सावधान! चार्ज में लगाते ही चोरी हो जाएगा आपके फोन का पूरा डेटा, भूल कर भी न करें ऐसी गलती

क्या आप भी सफर के दौरान मोबाइल बंद होने के बाद पब्लिक प्लेस में लगे चार्जर से अपना मोबाइल चार्ज कर लेते हैं? अगर आपका जवाब हाँ हैं , तो आपकी ये गलती बहुत भारी पड़ सकती हैं।

ऐसी अनेक खबरें सामने आ चुकी हैं कि पब्लिस प्लेस में मोबाइल चार्जिंग की वजह से लोगों के  बैंक अकाउंट खाली  हो रहे हैं। 

लोगों से गलत तरीके से ओटीपी के जरिए होने वाले फ्रॉड के बारे में ज्यादातर लोगों को जानकारी हों चुकी हैं। इसलिए अब स्कैमर्स ने लोगों के अकाउंट से पैसा निकालने के लिए जूस जैकिंग का नया तरीका खोजा हैं।

लोगों से गलत तरीके से ओटीपी के जरिए होने वाले फ्रॉड के बारे में ज्यादातर लोगों को जानकारी हों चुकी हैं। इसलिए अब स्कैमर्स ने लोगों के अकाउंट से पैसा निकालने के लिए जूस जैकिंग का नया तरीका खोजा हैं।

इस वायरस का इस्तेमाल स्कैमर ज्यादातर पब्लिक प्लेस वाली जगहों पर लोगों को टारगेट करने के लिए करते हैं। जैसे कि रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड , मॉल या फिर एयरपोर्ट

स्कैमर पब्लिक प्लेस में लगे हुए USB चार्जिंग पोर्ट में इस जूस जैकिंग को छोड़ देते हैं। जूस जैकिंग एक प्रकार के साइबर फ्रॉड वायरस हैं। स्कैमर इस वायरस को चार्जिंग पोर्ट में छोड़ देते हैं।

जब भी कोई पर्सन इस चार्जिंग पोर्ट के जरिए अपना मोबाइल चार्ज करता हैं। तब मोबाइल का सारा डाटा स्कैमर के पास चला जाता हैं।

इस डाटा के जरिए स्कैमर यूजर के बैंक अकाउंट को टारगेट करके पैसा निकाल लेते हैं।

इस जानकारी को प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट techbesmart.com आर पर विजिट करें। 

पूरी जानकारी प्राप्त करें।