Cyber Security Tips

Digital World Me Safe Kaise Rahe : डिजिटल दुनिया मे हैकिंग से कैसे बचे ?

जब से दुनिया मे डिजिटल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है. तब से फ्रॉड करने वाले भी लोगों को अपने जाल मे फ़साने के लिए तरह तरह के तरीके अपनाते रहते है. जिनके बारे मे बहुत कम लॉग जानते है. यही कारण है कि ज्यादातर लोग जानकारी न होने के कारण उनके शिकंजे मे फस जाते है।

इस लेख मे हम आपको बताने वाले है, कि इंटरनेट पर हैकिंग से कैसे बचे internet par hecker se kaise bache डिजिटल स्पेस मे सुरक्षित कैसे रहे digital World me safe kaise rahe या फिर ऑनलाइन फ्रॉड से कैसे बचे online fraud se kaise bache इत्यादि

Digital World Me Safe Kaise Rahe

देश मे जब से डिजिटल इंडिया की शुरुआत हुई है. तब से सरकार भी प्लास्टिक मनी , ऑनलाइन पेमेंट , या फिर केश लेश के तरीके अपना रही है. बेंक संबंधी लेन देंने डिजिटल होने के कारण अब हेकर्स भी फ्रॉड करने के नए नए तरीके अपना रहे है. जिनके बारे मे आपको जरूर पता होना चाहिए।

अगर आप इंटरनेट यूजर है. तो यह लेख आपके लिए बड़ा ही महत्वपूर्ण होने वाला है. इसलिए इस लेख को अंत तक जरूर पढे. आपको यह भी लग सकता है कि मुझे इनके बारे मे पहले से पता है लेकिन फिर भी आप इसे एक बार अंत तक जरूर पढे. क्या पता इनमे से कोई बात ऐसी हो जिसके बारे मे आपको पता ही न हो और वो आपके काम आ जाये।

एक से अधिक पासवर्ड याद रखने की समस्या

आज के समय मे ज्यादातर सुविधाये ऑनलाइन हो रही है. ऐसे मे अगर आपके पास भी अलग अलग प्रकार के अकाउंट है, तो उनके पासवर्ड भी अलग अलग होते है।

जैसे की ईमेल आईडी , नेट बैंकिंग , ऑफिसियल ईमेल , इनवेस्टमेंट अकाउंट , बेंक वॉलेट अकाउंट इत्यादि लेकिन इन सभी के अलग अलग पासवर्ड याद रखना

किसी भी यूजर के लिए काफी मुश्किल होता है. पासवर्ड याद रखने की इस समस्या से बचने के लिए ज्यादातर यूजर एक ही पासवर्ड को सभी जगह इस्तेमाल करते है।

ऐसे यूजर को पासवर्ड की अहमियत के बारे मे जानकारी नहीं होती है , न ही उन्हे पासवर्ड लीक हो जाने से होने वाले नुकसान के बारे मे ज्यादा पता होता है।

सभी जगहों पर एक ही पासवर्ड का इस्तेमाल खतरे से खाली नहीं है. अगर किसी भी कारणवश किसी भी प्रसन को आपका पासवर्ड पता चल जाता है, तो वो आपके सभी अकाउंट तक आसानी से पहुच सकता है।

इसलिए सभी अकाउंट के अलग अलग पासवर्ड बनाए पासवर्ड याद रखने के लिए आप गूगल के पासवर्ड मेनेजर का भी इस्तेमाल कर सकते है।

इसे भी जरूर पढे : अपनी ईमेल आईडी को कैसे सिक्योर करे।

हमेशा मजबूत पासवर्ड बनाए

अगर आप एक इंटरनेट यूजर है, तो आपको अलग अलग प्लेटफ़ॉर्म के इस्तेमाल के लिए पासवर्ड बनाने होते है इसलिए जरूरी है की हमेशा मजबूत पासवर्ड ही बनाए।

पासवर्ड ऐसा बनाए जिसे आसानी से कोई भी गेस कर सके. पासवर्ड बनाने ने लिए किसी का नाम , जन्मतिथि , मोबाइल नंबर या i love you , imissyou जैसे शब्दों का इस्तेमाल न करे।

मजबूत पासवर्ड बनाने के लिए हमेशा , केपिटल और small केरेक्टर, स्पेशल नंबर , नयूमेरिक नंबर , स्पेस इत्यादि का इस्तेमाल करे।
उदाहरण : ErsoN 45#$%Rdg

अकाउंट की लॉगिन हिस्ट्री चेक करें।

अगर आपके ईमेल से कोई प्रसन दूसरो की ईमेल आईडी पर फेक ईमेल भेजे जा रहे है या आपको कुछ संदेह है कि आपका गूगल अकाउंट किसी अनजान प्रसन ने खोला है, तो आप गूगल हिस्ट्री मे जाकर भी चेक कर सकते है।

गूगल और फ़ेसबुक हर लॉगिन या इसके लिए किए गए प्रयासों की लिस्ट हिस्ट्री और माई एक्टिविटी जाकर देख सकते है।

Use Multi Factor Authentication

आज के समय मे ज्यादातर बड़ी बड़ी कंपनिया फिर चाहे वो बैंकिंग की हो या किसी भी क्षेत्र से जुड़ी अपने ग्राहकों की सुरक्षा को ध्यान मे रखते हुए ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म पर मल्टी फेक्टर आर्थोनटिफिकेशनका फीचर देती है। जिसका लाभ लेने के लिए आपको ऑन करना होता है. कई बार कंपनिया खुद ही ऑन करके देती है।

इसके अलावा कुछ कंपनिया लॉगिन के समय कुछ सवाल जवाब भी करते है. जो आपने अकाउंट बनाते समय ऐड किया हुआ हो ताकि वो उन दोनों जवाबों का मिलान कर सके। इस प्रकार आप अपने खातों की हेकर्स से सुरक्षा कर सकते है.

इसे भी जरूर पढे : सोशल मीडिया हैकिंग से कैसे बचे।

Use Mobile Alert Notifications

अगर आप प्रोफेशनल इंटरनेट यूजर है यानि आप इंटरनेट के इस्तेमाल का अपने बिजनस संबंधी कार्यों के लिए करते है या आप ज्यादातर बेंक संबंधी पैसों का लेन देंन ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म के जरिए करते है तो आपको अपना मोबाइल नंबर या ईमेल एड्रेस ट्रांजेक्शन संबंधी अलर्ट के लिए रजिस्टर जरूर करवाना चाहिए।

मोबाइल पर आने वाले अलर्ट आपकी खाते की सुरक्षा के लिए एक अच्छा विकल्प है. अगर आपको नेट बैंकिंग या किसी भी मनी वॉलेट मे ट्रांजेक्शन संबंधी समस्या आती है. तो तुरंत अपने बेंक मे सूचना करे।

इसे भी जरूर पढे : यूट्यूब वीडियो बिना विज्ञापन के कैसे देखे ।

Use AntiVirus

अगर आप प्रोफेशनल इंटरनेट यूजर है, यानि कि आपका बिजनस ऑनलाइन है। तो आपको अपने सिस्टम मे एंटी वायरस का जरूर इस्तेमाल करना चाहिए।

ताकि आप खुद को फिशिंग फ्रॉड से बचने के साथ साथ अपने सिस्टम को भी हेकर्स से बचा सको. हेकर्स ज्यादातर ऐसे सिस्टम को टारगेट करते है. जिनमे किसी भी प्रकार का एंटी वायरस नहीं होता है।

Password Checkup Chrome Extension

अगर आप अपने किसी भी ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म या सिस्टम मे किसी ऐसे पासवर्ड का इस्तेमाल करते है. जिसे हेकर्स पहले ही हेक कर चुके है।

लेकिन आपको उस पासवर्ड के बारे मे जानकारी नहीं है, तो ऐसे मे गूगल का पासवर्ड चेकअप क्रोम एक्सटेंशन ऑटोमेटिकली आपको वार्निंग देगा।

गूगल क्रोम दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन बन चुका है. यही कारण है की वो हेकर्स के निशाने पर भी रहता है ।

लेकिन गूगल अपने यूजर्स की सुरक्षा के लिए भी नई नई तरीकों की खोज करता रहता है. गूगल अब अपने वेब ब्राउजर मे अपने यूजर्स को बिलट इन फीचर दे रहा है. जिसकी मदद से आप हेक पासवर्ड का पता आसानी से लगा सकते है।

इसे भी जरूर पढे : मोबाइल फोन में स्क्रीन गार्ड का इस्तेमाल होता है खतरनाक,

इस फीचर मे तकरीबन 4 बिलियन हेक हो चुके पासवर्ड का डेटा बेस है। जिसके माध्यम से यह टूल आपके पासवर्ड को उन हेक हुए पासवर्ड से मेच करके देखता है फिर आपको अलर्ट देता है।

गूगल ने अपने क्रोम ब्राउजर यूजर्स के लिए पासवर्ड चेकअप एड ऑन भी लॉन्च किया है. इसकी मदद से आप बिना कोई एक्सटेंशन इंस्टाल किए डेस्कटॉप या मोबाइल मे पासवर्ड को चेक कर सकते है।

पब्लिक वाई-फाई नेटवर्क्स न करें इस्तेमाल

फ्री का समान हर किसी इंसान को पसंद है फिर चाहे वो कितना भी सस्ता क्यों न हो. इंटनेट भी मानव जीवन का अहम हिस्सा बन चुका है। जिसके लिए यूजर्स को एक कीमत चुकनी पड़ती है। तभी आप उसका लाभ ले सकते है।

लेकिन अगर यही हमे फ्री मे मिलने लगे, तो हमारी खुशी अलग लेवल पर होती है. अगर आपको कही पर फ्री मे वाई फ़ाई की मदद से इंटनेट मिल रहा है, तो ज्यादा से ज्यादा यूजर्स उसका लाभ लेना चाहते है, लेकिन उस फ्री वाई फ़ाई के पीछे बहुत बड़ी साजिश होती है।

जिसके बारे मे लोगों को जानकारी नहीं होती है. हेकर्स लोगों को फ्री वाई फ़ाई देकर उनके मोबाइल से डेटा चोरी कर लेते है। जिसका इस्तेमाल आपके बेंक खातों के सेंध लगाने के लिए किया जाता है।

इसलिए पब्लिक पेलेस मे फ्री वाई फ़ाई का इस्तेमाल करने से बचे खासकर शॉपिंग मॉल्स, रेलवे स्टेशन , किसी भी पब्लिक पेलेस

इसे भी जरूर पढे : ई मेल फ्रॉड क्या है । इससे कैसे बचे।

पब्लिक चार्जिंग पोर्ट्स से बचें

सफर के दौरान स्मार्टफोन यूजर्स की सबसे बड़ी समस्या मोबाइल चार्जिंग की होती है. जिसके कारण उन्हे जहा भी मौका मिलता है. वे अपने मोबाइल को चार्ज कर लेते है। लेकिन अगर उन्हे किसी भी स्थान पर आसानी से चार्जिंग पोर्टेबल केबल मिल जाती है, तो वे उसका इस्तेमाल करने से नहीं बचते है।

स्मार्टफोन को पब्लिक चार्जिंग पोर्टबल केबल की मदद से चार्ज करना भी आपको हैकिंग का शिकार बना सकता है। कई बार हेकर्स पब्लिक पेलेस वाले पोर्ट्स यूएसबी केबल डिवाइस में मैलवेयर इंस्टॉल कर देता है।

अगर कोई भी यूजर उस केबल से अपना मोबाइल चार्ज करता है, तो यूजर के मोबाइल मे मौजूद सभी प्रकार का पर्सनल डेटा हेकर्स के पास चला जाता है. इसलिए पब्लिक प्लेस मे लगे हुए पोर्ट्स केबल से मोबाइल चार्ज करने से बचे।

इसे भी जरूर पढे : आपके आधार कार्ड पर कितने सिम है।

निष्कर्ष

इस लेख मे हमने आपको डिजिटल दुनिया मे सुरक्षित रहने के लिए टिप्स बताए है, ताकि आप हेकर्स से बच सको. इस लेख मे हमने आपको बताया है की इंटरनेट पर हैकिंग से कैसे बचे internet par hecker se kaise bache डिजिटल स्पेस मे सुरक्षित कैसे रहे digital me safe kaise rahe या फिर ऑनलाइन फ्रॉड से कैसे बचे online fraud se kaise bache इत्यादि.

अगर आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई है, तो आप अपनी राय हमे कमेन्ट के जरिए जरूर बताए और इस जानकारी को ज्यादा से ज्यादा दोस्तों रिश्तेदारों के साथ शेयर करे ताकि वे भी इन बातों के बारे मे जान सके अगर आपका इस जानकारी को लेकर किसी प्रकार का सवाल है तो आप हमसे कमेन्ट मे पूछ सकते है हम आपको समस्या का समाधान करने की पूरी कोशिश करेंगे धन्यवाद

Techbesmart

अगर आप Tech News , Internet Tips, Mobile Tips, Social Meda Tips, Online Scam Tips, इत्यादि से जुड़ी हुई जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट www.techbesmart.com पर विजिट करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button