Online Scam

Cab Booking Online Scam Hindi : ऑनलाइन कैब बुकिंग के दौरान पेमेंट हुआ फेल और अकाउंट से उड़ गए 2 लाख,

आज के समय में ऑनलाइन फ्रॉड की घटनाएं दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं हैं। ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले स्कैमर अलग अलग तरीकों से लोगों को अपने जाल में फंसा रहे हैं।

हाल ही में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के साथ से 2 लाख रुपये का ऑनलाइन फ्रॉड हुआ हैं। इंजीनियर के साथ यह फ्रॉड कैब बुकिंग के दौरान हुआ। ऐसी घटना आपके साथ न हो तो इसलिए इस लेख को अंत तक पढ़ें।

इस लेख को हम आपको ऑनलाइन कैब बुकिंग के जरिए होने वाले ऑनलाइन स्कैम के बारें में पूरी जानकारी देने वाले हैं। इसके अलावा हम आपको यह भी बताएंगे कि आप इस प्रकार के फ्रॉड से किस प्रकार खुद को बचा सकते हैं।

ये छोटी सी जानकारी आपको बड़े फ्रॉड से बचा सकती हैं।

Cab Booking Online Scam Hindi

महाराष्ट्र का एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर नासिक जाने के लिए ऑनलाइन कैब बुक कर रहा था। कैब बूक करने के लिए पहले उसने अपनी सभी डीटेल फिल की , डीटैल फिल करने के बाद अब उसे पेमेंट करना था। लेकिन पेमेंट करने के दौरान कुछ टेक्निकल इसु की वजह से उसकी पेमेंट फैल हो गई।

उसके बाद इंजीनियर ने एक बार फिर कैब का पेमेंट करने की कोशिश की लेकिन इस बार टेक्निकल प्रॉबलम के कारण पेमेंट फेल हो गई।

इस प्रॉबलम से तंग आकर इंजीनियर ने बुकिंग प्रक्रिया बीच में ही छोड़ दी।

कुछ समय के बाद इंजीनियर के पास एक काल आया। काल करने वाले पर्सन ने बताया कि वो ट्रेवल एजेंसी का कर्मचारी बोल रहा हैं। आप मुझे बताए कि आपको पेमेंट करने में क्या परेशानी हो रही हैं। उसके बाद कालर ने इंजीनियर से 100 रुपये की पेमेंट करवाई। औ कहाँ कि बाकी पेमेंट आप ट्रिप के बाद कर सकते हैं।

लेकिन लगभग 2 घंटों के बाद इंजीनियर के मोबाइल पर बैंक अकाउंट ट्रांजेक्शन के मेसेज आने शुरू हो गए। पहले 81,000 रु., फिर 71,000 रु. और फिर 1.50 लाख रु बारी बारी से काटे गये।

जब इंजीनियर को लगा कि उसके साथ स्कैमर फ्रॉड कर रहे हैं तो उसने तुरंत कस्टमर केयर को काल करके अपना क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड ब्लॉक करवा दिए। और इसकी जानकारी अपने नजदीकी थाने में दी

इसे भी जरूर पढे: किसी अनजान लड़की/लड़के को कॉल करवाना पड़ सकता हैं, भारी हो सकता हैं बैंक अकाउंट खाली !

कस्टमर केयर और पुलिस की मदद से इंजीनियर के 71,000 रुपये वापस आ गए हैं,लेकिन फिर भी दो लाख रुपये उसने गवां दिए।

इंजीनियर के साथ यह फ्रॉड कैसे हुआ अभी इसकी जांच चल रही हैं।

अब सवाल यह उठता हैं कि यह फ्रॉड किस प्रकार हुई। जिसकी वजह से इंजीनियर को इतनी भारी कीमत चुकनी पड़ी।

क्योंकि यहाँ देखा जाए तो इंजीनियर सिर्फ कैब बुकिंग के लिए पेमेंट कर रहा था। वो भी कैब की वेबसाइट पर जाकर

लेकिन उसके साथ ये फ्रॉड कैसे हो गया। इसे थोड़ा सा समझने की कोशिश करते हैं।

इस प्रकार के ऑनलाइन फ्रॉड को Pharming कहा जाता है। जहां पर स्कैमर किसी मुख्य साइट के डोमेन नेम सिस्टम यानि कि DNS को हैक कर सर्वर अपनी वेबसाइट पर रिडायरेक्ट कर लेते हैं।
जिसके कारण सही यूआरएल और सही साइट पर विजिट करने के बाद भी यूजर ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार हो जाता हैं।

आसान भाषा में समझे तो यूजर किसी अनजान लिंक पर क्लिक किये बगैर भी ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार हो सकता हैं।

अब बात करते हैं तो आप इस प्रकार के Pharming साइबर फ्रॉड से खुद को कैसे बचा सकते हैं। अभी इससे बचने के लिए कोई प्रॉपर तरीका तो नहीं हैं लेकिन कुछ बाते हैं जो आपको इस प्रकार के फ्रॉड से बचा सकती हैं।

इसे भी जरूर पढे: फेक कस्टमर केयर फ्रॉड क्या हैं। इसके जरिए लोगों के बैंक अकाउंट खाली कैसे हो रहे हैं।

Pharming साइबर फ्रॉड से कैसे बचें।

  1. अपने मोबाइल या सिस्टम को हमेशा अपडेट रखें।
  2. अपने मोबाइल और सिस्टम की कुकीज समय समय पर डिलीट करते रहें।
  3. मोबाइल में आए किसी भी प्रकार के अनजान लिंक पर क्लिक न करें।
  4. अगर आप अपना मोबाइल या सिस्टम मुख्य कार्य करने के लिए इस्तेमाल करते हैं तो हमेशा एंटी वायरस का इस्तेमाल जरूर करें।
  5. अपने डाटा का बैकअप जरूर रखें।

ये बाते हैं जो आपको इस प्रकार के फ्रॉड से बचने में मदद कर सकती है।

आपको हमारी ये जानकारी कैसी लगी हमें कमेन्ट करके जरूर बताएं इस जानकारी को अपने दूसरे दोस्तों रिश्तेदारों के साथ भी शेयर करें। ताकि वे भी इस प्रकार के फ्रॉड से बचा वरना जाने अनजाने में वे भी इस प्रकार के फ्रॉड का शिकार हो सकते हैं।

sharukh khan

मेरा नाम शाहरुख खान हैं। में पेशे से ब्लॉगर , कंटेन्ट राइटर और डिजिटल मार्केटर हूँ। मुझे टेक्नोलॉजी क्षेत्र के बारें में अच्छी समझ हैं इसलिए में tech be smart प्लेटफ़ॉर्म के जरिए आसान से आसान भाषा में दूसरे यूजर की समझने की कोशिश करता हूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button